प्रवासी मजदूरों के मसीहा बन आगे आए सोनू सूद, कहा- पैदल क्यों जाओगे, नंबर भेजो

Publish Date: 23 May, 2020 03:56 PM   |   Aditi  

नई दिल्ली, 23 मई | कोरोना वायरस देश में हर दिन बड़ता ही जा रहा है। लेकिन लोगों के हौसले अब भी बुलंद हैं।  जहां एक ओर कोरोना से जूझने में कोरोना वॉरियर्स अपनी भूमिका मजबूती से अदा कर रहे हैं तो वहीं बॉलीवुड सितारे भी लोगों की मदद के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। सोनू सूद भी उन एक्टर्स में हैं जो दिल खोल कर इस लॉकडाउन में गरीब लोगों की सहायता कर रहे हैं। 

कई मजदूर पैदल ही घर को बढ़ रहे हैं। ऐसे में सोनू सूद ने कई लोगों को उनके घर तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। एक बार फिर सोनू ने सोशल मीड‍िया प्लेटफॉर्म ट्व‍िटर के जर‍िए घर जाने वाले बेबस लोगों से संपर्क किया और उनकी मदद की है। 

 

दरअसल, मूल रूप से बिहार के रहने वाले एक व्यक्त‍ि ने ट्वीट कर बताया कि वे लोग पास के लिए पुलिस चौकी के कई चक्कर लगा चुके हैं। अभी वे धारावी में रहते हैं। लेकिन मदद के कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं। उस व्यक्त‍ि के ट्वीट पर सोनू ने उसे अपना डिटेल भेजने के लिए कहा है।  सोनू ने लिखा- 'भाई चक्कर लगाना बंद करो और रिलैक्स करो।दो दिन में बिहार में अपने घर का पानी पियोगे, डिटेल्स भेजो'.

एक और व्यक्त‍ि ने ट्वीट कर सोनू से मदद मांगी। उसने लिखा- सर प्लीज ईस्ट यूपी में कहीं भी भेज दो सर, वहां से पैदल जाएंगे अपने गांव सर.' इसपर देख‍िए सोनू की दिलदारी।  सोनू ने लिखा- 'पैदल क्यों जाओगे दोस्त? नंबर भेजो'.

 

सोनू ने इससे पहले भी बिहार के कई मजदूरों को उनके घर पहुंचाए।  ट्विटर के माध्यम से भी जो लोग उनसे संपर्क कर रहे हैं, सोनू हर किसी की मदद कर रहे हैं। उन्होंने मुंबई के जुहू स्थ‍ित होटल के दरवाजे भी मेड‍िकल वर्कर्स के लिए खोले। इसके पहले जब देश में लॉकडाउन लगा तो उन्होंने अपने पिता शक्ति सागर सूद के नाम पर एक स्कीम लॉन्च की थी जिसके तहत वो रोज 45 हजार लोगों को हर रोज खाना खिला रहे थे।