ताजा खबरें

तमिलनाडु में जबरदस्त बारिश,15 लोगों की मौत

Publish On: 02 Dec, 2019 12:43 PM | Updated   |   Shivani  

तमिलनाडु के कई हिस्सों और पड़ोसी राज्य पुडुचेरी में पिछले दो दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है। इस बारिश की वजह से कई इलाकों में जलजमाव की स्थिति बनी हुई। कई लोगों के घरों में पानी जमा हो गया है। लोगों का जीवन तीतर-बितर हो गया है। तमिलनाडु के मेट्टुपलायम में एक दीवार गिरने से 4 महिलाओं समेत तकरीबन 15 लोगों की मौत हो गई। मौसम विभाग का कहना है कि रामनाथपुरम, तिरुनेलवेली, तूतीकोरिन, वेल्लोर, तिरुवल्लुर, तिरुवन्नमलाई जिलों में अगले दो दिनों में और भारी बारिश हो सकती है।

इंडिया मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट ने कहा कि नार्थईस्ट इलाकों में हवाओं के मजबूत होने के चलते अगले 2 दिनों के दौरान तमिलनाडु पर बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। केरल, लक्षद्वीप और साउथ इंटीरियर कर्नाटक में भी अलग-अलग जगहों पर बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

यह बारिश नार्थईस्ट मानसून की वजह से हो रही है। अरब सागर में दबाव बनने की वजह से हवा की स्पीड बढ़ने की संभावना को देखते हुए मछुआरों को केप कोमोरिन और लक्षद्वीप क्षेत्र में समुद्र में न जाने की सलाह दी है। तमिलनाडु सरकार ने मेट्टुपलायम में दीवार गिरने से जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को 4-4 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है। 

भारी बारिश की वजह से मद्रास यूनिवर्सिटी और अन्ना यूनिवर्सिटी में आज होने वाली परीक्षाएं पोस्टपोंड कर दी गई हैं। पुडुचेरी के स्कूलों में आज की छुट्टी कर दी गई है। उधर तमिलनाडु स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने कहा कि तिरुवल्लुर, थुथुकुडी और रामनाथपुरम में स्कूलों और कॉलेजों में सोमवार के लिए हॉलिडे अनाउंस किया गया है। चेंगलपट्टू, कांचीपुरम, कुड्डालोर और चेन्नई में स्कूलों के लिए हॉलिडे घोषित किया गया है।

इस बीच, मिनिस्टर ऑफ डिजास्टर मैनेजमेंट आरबी उदय कुमार ने कहा कि भारी बारिश से प्रभावित कुड्डालोर जिले के निचले इलाकों के करीब 800 लोगों को निकाला गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश आपदा रिस्पॉन्स फोर्स के जवानों को चेन्नई, कन्याकुमारी, नीलगिरि, तिरुवल्लूर, कांचीपुरम और डिंडीगुल जिलों में भेजा गया है।

पिछले दो दिनों से हो रही भारी वर्षा की वजह से रामेश्वरम के रिहायशी इलाकों में जलभराव हो गया है। जिससे आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। शनिवार रात मंडपम के कोस्टल एरिया में तट से टकराने के बाद मछली पकड़ने वाली छह बोट्स क्षतिग्रस्त हो गईं।