ताजा खबरें
  • कुल कोरोना मामले: 1,73,763 | मौतें: 4,980 | केरला: 1,088 | महाराष्ट्र: 59,546 | कर्नाटक: 2,533 | तेलंगाना: 2,256| गुजरात:16,281 | राजस्थान: 8,067 | उत्तर प्रदेश: 7,170 | दिल्ली: 16,281 | पंजाब: 2,045 | तमिलनाडु: 19,372 | हरयाणा: 1,504 | मध्य प्रदेश: 7,453
  • वेस्ट बंगाल: 4,536 | आंध्र प्रदेश: 3,251 | लद्दाख: 73| बिहार: 3,296 | चंडीगढ़: 288 | अंडमान और निकोबार: 33 | छत्तीसगढ़: 399 | उत्तराखंड: 500 | गोवा: 69 | ओडिशा: 1,660 | हिमाचल प्रदेश: 276 | मिजोरम: 1 | पांडिचेरी: 51 | मणिपुर: 55

PM नरेंद्र मोदी के ऐलान पर भड़कीं ममता, नुकसान हुआ 1 लाख करोड़ का, मिले 1 हजार करोड़

Publish Date: 22 May, 2020 03:35 PM   |   Aditi  

कोलकाता, 22 मई | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अम्फान तूफान से तबाह हुए पश्चिम बंगाल के कई जिलों का हवाई दौरा किया। जायज़ा लेने के बाद उन्होंने एक हजार करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान किया। पीएम मोदी के इस ऐलान पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बिफर पड़ी हैं। उनका कहना है कि नुकसान एक लाख करोड़ का हुआ और पैकेज सिर्फ एक हजार करोड़ का दिया जा रहा है। 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने एक हजार करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया है, लेकिन इससे जुड़ी कोई जानकारी नहीं दी है। यह पैसा कब मिलेगा या यह अग्रिम धनराशि है। अम्फान तूफान के कारण एक लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। 56 हजार करोड़ रुपया तो हमारा ही केंद्र पर बकाया है। 

हवाई सर्वेक्षण के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था, 'अम्फान चक्रवात से निपटने के लिए राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने मिलकर भरसक प्रयास किया, लेकिन उसके बावजूद करीब 80 लोगों का जीवन नहीं बचा पाएं, इसका हम सभी को दुख है और जिन परिवारों ने अपना स्वजन खोया है उनके प्रति केंद्र और राज्य सरकार की संवेदनाएं हैं.'

आगे पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'लोगों को हर संभव मदद प्रदान करने के लिए केंद्र और राज्य मिलकर काम कर रहे हैं. अभी तत्काल राज्य सरकार को कठिनाई न हो इसके लिए 1000 करोड़ रुपये भारत सरकार की तरफ से व्यवस्था की जाएगी. साथ ही प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये की सहायता दी जाएगी.'

प. बंगाल में इस तूफान से अब तक 72 लोगों की मौत हो चुकी है। तूफान के चलते सैकड़ों पेड़ उखड़कर गिर गए हैं। कच्चे घरों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है। कई घरों के टिनशेड तूफान में उड़ गए। कई इलाकों में बिजली के खंभे गिरे, पावर सप्लाई रुक गई है। प. बंगाल सरकार मृतकों के परिजनों को 2.5 लाख रुपए मुआवजा देगी।

तूफान से पहले ही 6.58 लाख लोगों को सुरक्षित निकाला गया। प. बंगाल में 5 लाख लोगों को राहत कैंपों में पहुंचाया गया। ओडिशा में 1.58 लाख लोगों को राहत कैंपों में पहुंचाया गया। तूफान अम्फान से जंग में राहत-बचाव के लिए NDRF की 53 टीमें लगाई गई हैं। ओडिशा और बंगाल में कुल 53 टीमें लगी हैं। पश्चिम बंगाल में 19 टीमें तैनात, 4 स्टैंडबाई पर हैं।  ओडिशा में 13 टीमें तैनात, 17 स्टैंडबाई पर हैं। थल, जल और वायु सेना अलर्ट पर है।