ताजा खबरें
  • कुल कोरोना मामले: 1,73,763 | मौतें: 4,980 | केरला: 1,088 | महाराष्ट्र: 59,546 | कर्नाटक: 2,533 | तेलंगाना: 2,256| गुजरात:16,281 | राजस्थान: 8,067 | उत्तर प्रदेश: 7,170 | दिल्ली: 16,281 | पंजाब: 2,045 | तमिलनाडु: 19,372 | हरयाणा: 1,504 | मध्य प्रदेश: 7,453
  • वेस्ट बंगाल: 4,536 | आंध्र प्रदेश: 3,251 | लद्दाख: 73| बिहार: 3,296 | चंडीगढ़: 288 | अंडमान और निकोबार: 33 | छत्तीसगढ़: 399 | उत्तराखंड: 500 | गोवा: 69 | ओडिशा: 1,660 | हिमाचल प्रदेश: 276 | मिजोरम: 1 | पांडिचेरी: 51 | मणिपुर: 55

गैंगरेप दोषियों को जनता के हवाले कर दो-जया बच्चन

Publish On: 02 Dec, 2019 02:39 PM | Updated   |   Shivani  

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद से सटा रंगारेड्डी जिला इन दिनों सुर्खियों में है। कुछ वहशी लोगों ने एक महिला डॉक्टर को मदद का भरोसा दिया और बदले में न केवल महिला के साथ रेप किया बल्कि उसे जलाकर मार दिया। उन आरोपियों ने बर्बरता की सारी हदें पार कर दी थीं। महिला पशु चिकित्सक को शराब पिलाने की कोशिश भी की यही नहीं रेप करने के बाद उसे जला दिया। इसके बाद भी आरोपी यह पुख्ता करने के लिए की महिला मर चुकी है या नहीं उस जगह पर वापस लौटे जहां महिला डॉक्टर को जलाया गया था। इस मामले की गूंज संसद के दोनों सदनों में सुनाई दी।

राज्यसभा में सपा सांसद जया बच्चन ने कहा कि इस तरह की मानसिकता के लोगों को समाज में रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि रेप या गैंगरेप के दोषियों को जनता के हवाले कर देना चाहिए ताकि गुनहगारों को सही तरीके से न्याय मिले और पीड़ित परिवार के दिल को सुकुन मिले। जया बच्चन ने कहा कि हम एक तरफ कड़े कानूनों की बात कर रहे हैं लेकिन जिस तरह से ऐसे मामले सामने आ रहे हैं उससे एक बात स्पष्ट है कि आखिर क्या हो रहा है। हम किस तरह के समाज में जी रहे हैं। अब समय आ गया है कि रेप जैसे जघन्य अपराधों को अंजाम देने वालों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई हो कि इस तरह की सोच रखने वालों की रूह कांप जाए। 

read also- 

लोकसभा में हैदराबाद मुद्दे पर बयान देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ही नहीं बल्कि पूरा देश हैदराबाद में जो कुछ हुआ उससे दुखी है। इस तरह की आपराधिक वारदातों पर लगाम लगाने के लिए कठोर से कठोरतम कानून के लिए सरकार तैयार है। हम सदन के साथ साथ आम जनता की भावना को समझते हैं। राज्यसभा और लोकसभा में सभी दलों के सांसदों ने कहा कि अब समय आ चुका है जब इस तरह की हरकतों पर लगाम लगाने के लिए कड़े फैसले लिया जाए।