जफरूल इस्लाम खान ने दिया भड़काऊ बयान राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने एक्शन लेने को कहा

Publish On: 29 Apr, 2020 08:58 PM | Updated   |   Sj Desk  

केजरीवाल सरकार के अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम खान ने किया है ,उन्होंने भारत के ही खिलाफ भड़काऊं बयानबाजी की है, केजरीवाल सरकार अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम खान पर कोई कार्रवाई करती है या नहीं। ,

 

 

नई दिल्ली, 29 अप्रैल | वो कहावत सच ही है की जब आप सांप को पालोगे तो वो बड़ा होकर ज़हर ही उगलेगा न की भूल , दरअसल ऐसा ही कुछ केजरीवाल सरकार के अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम खान ने किया है ,उन्होंने भारत के ही खिलाफ भड़काऊं बयानबाजी की है , अब देखना ये है की जो केजरीवाल सरकार दिन रात धर्मनिरपेक्षता की दुहाई देती है।  वो अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम खान पर कोई कार्रवाई करती है या नहीं। 

जफरुल इस्लाम खान

दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम खान एक विवादित बयान को लेकर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग (एनसीएम) ने जफरूल का बयान बेतुका है और केजरीवाल सरकार को इस पर एक्शन लेना चाहिए।

जफरुल इस्लाम खान ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था- "भारतीय मुस्लिमों के साथ खड़े होने के लिए धन्यवाद कुवैत। जिस दिन मुसलमानों ने अरब देशों से अपने खिलाफ जुल्म की शिकायत कर दी, सैलाब आ जाएगा।" इस बयान के बाद बीजेपी नेताओं ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है वहीं नेशनल अल्पसंख्यक आयोग की तरफ से कहा गया कि ये बेतुका और बचकाना बयान है और दिल्ली सरकार को इस पर तुरन्त एक्शन लेना चाहिए।

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष सैयद घयोरुल हसन रिजवी ने आईएएनएस से कहा, "उनको इस तरीके का बयान नहीं देना चाहिए था, ये एक धमकी भरा बयान है। इस देश में सभी धर्मो के लोग एक साथ रहते हैं, अरब कंट्री ने अपने देश का सबसे बड़ा सम्मान हमारे देश के प्रधानमंत्री को दिया था। दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग की तरफ से यह बयान बिल्कुल ही बेतुका, बचकाना बयान है। इस बयान से इस देश में आपसी सद्भाव बिगड़ेगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इनके ऊपर जरूर एक्शन लेना चाहिए।"

जफरुल इस्लाम खान

उधर दिल्ली के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट के जरिये जफरूल इस्लाम पर हमला बोला है। उन्होंने कहा, "घटिया और जहरीली सोच वाले जफरुल इस्लाम को तुरंत पद से हटाइए। आतंकी जाकिर नाइक का समर्थन कर रहा है। देश के अंदर हमलों की बात कर रहा है। ऐसे आतंकी सोच वाले को आम आदमी पार्टी ने दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग का मुखिया बना रखा है। हमारी मांग और चेतावनी है कि इसे तुरंत हटाइए।"